एक था डॉक्टर एक था संत : अरुंधति रॉय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Ek Tha Doctor Ek Tha Sant : by Arundhati Roy Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Name एक था डॉक्टर एक था संत / Ek Tha Doctor Ek Tha Sant
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 109
Quality Good
Size 4 MB
Download Status Not Available
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|

पुस्तक का विवरण : जाति का विनाश लगभग अस्सी वर्ष पुराण भाषण है। एक ऐसा भाषण, जो कभी दिया न सका। जब मैंने इसे पहली बार पढ़ा तो लगा, मानो कोई व्यक्ति किसी घुप अँधेरे कमरे में जाए, और फिर खिड़कियाँ खोल दे। जो कुछ भी भारतवासियों को स्कूल में पढ़ाया जाता है, और जो असली वास्तविकता हम हर रोज……..

Pustak Ka Vivaran : Jati ka vinash lagabhag assi varsh puran bhashan hai. Ek aisa bhashan, jo kabhi diya na saka. Jab mainne ise pahali bar padha to laga, mano koi vyakti kisi ghup andhere kamare mein jaye, aur phir khidakiyan khol de. jo kuchh bhee bharatavasiyon ko school mein padhaya jata hai, aur jo asali vastavikata ham har roj…………

Description about eBook : At the time of birth if the sunrise houses are strong then the souls are also strong. If the sunrise is weak, the soul should also be considered weak. The opposite of Saturn, that is, the stronger Saturn is, the more inauspicious and the weaker it is, the more auspicious it should be considered. Sun and Moon King, Mercury Prince………………

“ऐसा छात्र जो प्रश्न पूछता है, वह पांच मिनट के लिए मूर्ख रहता है, लेकिन जो पूछता ही नहीं है वह जिंदगी भर मूर्ख ही रहता है।” ‐ चीनी कहावत
“The student who asks is a fool for five minutes, but he who does not ask remains a fool forever.” ‐ Chinese Proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment