डॉ. आंबेडकर आत्मकथा एवं जनसंवाद : डॉ. नरेंद्र जाधव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – जीवनी | Dr. Ambedkar Evam Jansanvad : by Dr. Narendra Jadhav Hindi PDF Book – Biography (Jeevani)

Book Name डॉ. आंबेडकर आत्मकथा एवं जनसंवाद / Dr. Ambedkar Evam Jansanvad
Author
Category, , , , , , ,
Language
Pages 333
Quality Good
Size 2.2 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : जिस तरह हमारे समाज में माता-पिता अपने बेटों की कसूरवार हैं, उसी तरह वे अपनी लड़कियों की भी जिंदगी तबाह करते हैं। जिंदगी बरबाद करने के लिए जिस तरह कम उम्र में विवाह करने से लड़कों का जीवन खराब होता है, उसी तरह लड़कियों को मुरली परंपरा में झोंककर उनकी जिंदगी बरबाद की जाती है। हिंदू धर्म की मुरली परंपरा के तहत लड़कियों को भगवान्‌ को ऐ समर्पित कर दिया जाता है………..

Pustak Ka Vivaran : Jis Tarah hamare Samaj mein Mata-Pita apane beton ki Zindagi barbad karne ke liye kasoorvar hain, usi tarah ve apni Ladakiyon ki bhi Zindagi tabah karate hain. Jis tarah kam umr mein vivah karane se ladakon ka jeevan kharab hota hai, usi tarah ladakiyon ko Murli parampara mein jhonkakar unki Zindagi barbad ki jati hai. Hindu dharm ki Murli Parampara ke tahat ladakiyon ko bhagvan‌ ko Samarpit kar diya jata hai……..

Description about eBook : Just as parents in our society are responsible for ruining the lives of their sons, in the same way they destroy the lives of their girls. Just as the life of boys is spoiled by getting married at an early age, in the same way, their lives are ruined by throwing girls into the Murli tradition. Under the Murli tradition of Hinduism, girls are dedicated to God………

“सच्चे मित्र मुश्किल से मिलते हैं, कठिनता से छूटते हैं और भुलाए नहीं भूलते हैं।” ‐ जी. रेण्डॉल्फ
“Truly great friends are hard to find, difficult to leave and impossible to forget.” ‐ G. Randolf

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment