थिरके पत्ता पीपल का : डॉ. ओमप्रकाश गुप्त द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Thirke Patta Pipal Ka : by Dr. Om Prakash Gupt Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

Book Name थिरके पत्ता पीपल का / Thirke Patta Pipal Ka
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 162
Quality Good
Size 46 MB
Download Status Available

थिरके पत्ता पीपल का का संछिप्त विवरण : मैं यह कह सकता हूं कि छन्द और भाव अ्रपरिवर्तित रखने का मैंने भरसकर प्रयत्न किया है। जहां कहीं थोड़ा – बहुत परिवर्तन हुआ है या छन्द टूटा है, वहां मैंने अपने आपको मजबूर पाया है। गीतों के हिन्दी रूपों में कतिपय डोगरी-प्रयोग समाविष्ट करने का लोभ भी मैं छोड़ नहीं पाया हूं। ‘न’ और ‘ना” जैसे प्रयोगों में मात्रा-लाभ के लिए मैंने अपने आप को स्वतंत्र मान लिया । इसी…..

Thirke Patta Pipal Ka PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Main yah kah sakta hoon ki chhand aur bhav Araparivartit rakhane ka mainne bharasakar prayatn kiya hai. Jahan kaheen thoda – bahut parivartan huya hai ya chhand toota hai, vahan mainne apne aapako majboor paya hai. Geeton ke hindi roopon mein katipay dogari-prayog samavisht karne ka lobh bhi main chhod nahin paya hoon. Na aur Na” jaise prayogon mein matra-labh ke liye mainne apane aap ko svatantra man liya. Isi…..
Short Description of Thirke Patta Pipal Ka PDF Book : I can say that I have tried my best to keep the verses and sentiments unchanged. Wherever there has been little change or the verse is broken, I have found myself compelled. I have not been able to give up the temptation to include some Dogri-experiments in the Hindi forms of songs. I considered myself independent for quantity-gain in experiments like ‘no’ and ‘na’. This…..
“प्रतिकूल परिस्थितियों से कुछ व्यक्ति टूट जाते हैं, जबकि कुछ अन्य व्यक्ति रिकार्ड तोड़ते हैं।” ‐ विलियम ए. वार्ड
“Adversities cause some men to break; others to break records.” ‐ William A. Ward

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment