तात्या टोपे : इंदुमती शेवड़े द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Tatya Tope: by Indumati Shevade Free Hindi PDF Book

Category
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“आपकी मर्जी के बिना कोई भी आपको तुच्छ होने का अहसास नहीं करवा सकता है।” – एलेयनोर रूज़वेल्ट
“No one can make you feel inferior without your consent.” -Eleanor Roosevelt

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

तात्या टोपे : इंदुमती शेवड़े द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Tatya Tope: by Indumati Shevade Free Hindi PDF Book

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )

tatya-tope-indumati-shevade-तात्या-टोपे-इंदुमती-शेवड़े

पुस्तक का नाम / Name of Book : तात्या टोपे / Tatya Tope

पुस्तक के लेखक / Author of Book : इंदुमती शेवड़े / Indumati Shevade

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 3.7 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 90

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण : तात्या टोपे (1814 – 18 अप्रैल 1859) भारत के पहले स्वतंत्रता संग्राम के मुख्य कमांडर थे। 1857 की महान विद्रोह में उनकी भूमिका सबसे महत्वपूर्ण, प्रेरणादायक और बेजोड़ थी। सातवाहन विद्रोह मेरठ से 10 मई को शुरू हुआ। जल्द ही उत्तर भारत में क्रांति की क्रांति फैल गई भारतीय जनता ने विदेशी शक्ति के खूनी झटके को तोड़ने के लिए बहुत जबरदस्त लड़ाई लड़ी थी। उन्होंने अपने रक्त के साथ बलिदान और बलिदान की अमर कविता लिखी रानी लक्ष्मीबाई, नाना साहब पेशवे, राव साहिब, बहादुर शाह जफर इत्यादि के प्रस्थान के बाद, उस खूनी और गौरवशाली इतिहास के झांसी के चरण से, तंति ने लगभग एक वर्ष बाद विद्रोहियों का आदेश बरकरार रखा था…………..

अन्य ऐतिहासिक पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  “ऐतिहासिक हिंदी पुस्तक”

Description about eBook : Tatya Tope (1814 – 18 April 1859) was a Chief Commander of India’s first independence struggle. His role in the great revolt of 1857 was the most important, inspirational and unmatched. The Satvahan rebellion began on May 10 from Meerut. Soon the revolution of the revolution spread throughout North India. The Indian public fought tremendously to break the bloody cloak of foreign power. He wrote the immortal verse of sacrifice and sacrifice with his blood. After the departure of Rani Lakshmibai, Nana Sahab Peshwa, Rao Sahib, Bahadur Shah Zafar etc., from Jhansi’s stage of that bloody and glorious history, Tanti retained the command of the rebels almost a year later……………

To read other Historical books click here- “Historical Hindi Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“केवल कॉफ़ी बनाने के लिये केमिकल इंजीनियर की नियुक्ति न करें।”
– ए. मार्गोलेज़


——————————–
“Don’t hire a chemical engineer to brew you a cup of coffee.”
– A. Margolese

Leave a Comment