तन्त्रवाधों में काफी एवं भैरव थाट के रगों में प्रयुक्त बंदिशों का विश्लेषणात्मक अध्ययन : निशा पाठक द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Tantra Bado Me Kafi Awam Bhairaw That Ke Rago Me Prayukt bandisho Ka Vishleshanatmak Adhyayan : by Nisha Pathak Hindi PDF Book

Category,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“टीवी वास्तविकता से परे है। वास्तविक जीवन में लोगों को फुरसत छोड़ कर नौकरी और कारोबार करना होता है।” बिल गेट्स
“Television is not real life. In real life people have to leave the coffee shop and go to jobs.” Bill Gates

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

तन्त्रवाधों में काफी एवं भैरव थाट के रगों में प्रयुक्त बंदिशों का विश्लेषणात्मक अध्ययन : निशा पाठक द्वारा हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Tantra Bado Me Kafi Awam Bhairaw That Ke Rago Me Prayukt bandisho Ka Vishleshanatmak Adhyayan : by Nisha Pathak Hindi PDF Book

तन्त्रवाधों में काफी एवं भैरव थाट के रगों में प्रयुक्त बंदिशों का विश्लेषणात्मक अध्ययन हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Tantra Bado Me Kafi Awam Bhairaw That Ke Rago Me Prayukt bandisho Ka Vishleshanatmak Adhyayan Hindi PDF Book

  • Pustak Ka Naam / Name of Book : तन्त्रवाधों में काफी एवं भैरव थाट के रगों में प्रयुक्त बंदिशों का विश्लेषणात्मक अध्ययन / Tantra Bado Me Kafi Awam Bhairaw That Ke Rago Me Prayukt bandisho Ka Vishleshanatmak Adhyayan Hindi Book in PDF
  • Pustak Ke Lekhak / Author of Book : निशा पाठक / Nisha Pathak
  • Pustak Ki Bhasha / Language of Book : हिंदी / Hindi
  • Pustak Ka Akar / Size of Ebook : 31.4 MB
  • Pustak Mein Kul Prashth / Total pages in ebook : 339
  • Pustak Download Sthiti / Ebook Downloading Status : Best

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

 

तन्त्रवाधों में काफी एवं भैरव थाट के रगों में प्रयुक्त बंदिशों का विश्लेषणात्मक अध्ययन हिन्दी पीडीएफ़ पुस्तक | Tantra Bado Me Kafi Awam Bhairaw That Ke Rago Me Prayukt bandisho Ka Vishleshanatmak Adhyayan Hindi PDF Book

PustakKaVivaran : Sangeet ka svarup kriyatmak pramukh hai, vaigyanik gaun hai. Lekin kriyatmak sangit ke praman nahin milate hai kyonki prachinakal mein Adhunik upakaranon ke abhav mein sangit shiksha maukhik dee jati thi. Shastriy sangit ke kriyatmak paksh par alp shodh kary hi hua hai, jo hua hai. Vah bhi mukhyatah kanth sangit ke kshetr mein hi kiya gaya hai…………

अन्य भजन पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए- “भजन हिंदी पुस्तक

Description about eBook : The nature of music is functional, scientific is secondary. But there is no evidence of functional music because in the absence of modern equipment, music education was given oral. There has been little research work on the functional side of classical music, which has happened. He has also been mainly in the field of vocal music……………..

To read other Bhajan books click here- “Hindi Bhajan Books

 

सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें

 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें

 

“अच्छे विचारों को स्वतः ही नहीं अपनाया जाता है। उन्हें पराक्रमयुक्त धैर्य के साथ व्यवहार में लाया जाना चाहिए।”
– हायमैन रिकओवर
——————————–
“Good ideas are not adopted automatically. They must be driven into practice with courageous patience. ”
– Hyman Rickover
Connect with us on Facebook and Instagram – सोशल मीडिया पर हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज लाइक करें. लिंक नीचे दिए है

Leave a Comment