सिर उठा के चलो, मौली : डेविड द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Sir Utha Ke Chalo : by David Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Name सिर उठा के चलो, मौली / Sir Utha Ke Chalo, Mauli
Author
Category, , ,
Language
Pages 32
Quality Good
Size 3 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : मौली त्रोक मेलन ऊचाई में बस अपने कुत्ते जितनी थी। वो अपनी कक्षा में, ऊचाई में सबसे छोटी लड़की थी। लेकिन उससे उसे कोई फर्क नहीं पड़ा। मौली की दादी ने उससे कहा था, “गर्व से सर उठाकर चलो,और फिर दुनिया तुम्हारा मुंह ताकेगी।” मौली ने वही किया मौली लोऊ मेलन के दाँत बाहर निकले हुए थे……..

Pustak Ka Vivaran : Molly lou melan unchai mein bas apane kutte jitani thee. Vo apani kaksha mein, Unchai mein sabase chhotee ladakee thee. lekin usase use koi phark nahin pada. Molly kee dadee ne usase kaha tha, garv se sar uthakar chalo,aur phir duniya tumhara munh takegi…………

Description about eBook : Molly Lou Melon was just as high as her dog in the height. She was the youngest girl in her class, height. But she did not make any difference to her. Molly’s grandmother told him, “Take pride in your head, and then the world will look at you.”Molly did the same, Mauli Lou Mellon’s teeth were out………..

““कठिनाईयों का अर्थ आगे बढ़ना है, न कि हतोत्साहित होना। मानवीय भावना का अर्थ द्वन्द्व से और अधिक मजबूत होना होता है।” ‐ विलियम एल्लेरी चैन्निंग
“Difficulties are meant to rouse, not discourage. The human spirit is to grow strong by conflict.” ‐ William Ellery Channing

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment