सौंदर्य लहरी : विष्णुतीर्थ महाराज द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Saundarya Lahri : by Vishnutirth Maharaj Free Hindi PDF Book

Author
Category,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“मेरे साथ जो कुछ अप्रिय हो सकता है, उन सभी से मैं बड़ा हूं। यह सभी बातें, दुःख, दुर्भाग्य, तथा पीड़ाएं, मेरे दरवाजे से बाहर हैं। मैं घर में हूं तथा मेरे पास घर की चाबी है।” ‐ चार्ल्स फ्लैचर ल्यूम्मिस
“I am bigger than anything that can happen to me. All these things, sorrow, misfortune, and suffering, are outside my door. I am in the house and I have the key.” ‐ Charles Fletcher Lummis

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

सौंदर्य लहरी : विष्णुतीर्थ महाराज द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Saundarya Lahri : by Vishnutirth Maharaj Free Hindi PDF Book 

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )
Saundarya-Lahri-Vishnutirth-Maharaj-सौंदर्य-लहरी-विष्णुतीर्थ-महाराज

पुस्तक का नाम / Name of Book : सौंदर्य लहरी / Saundarya Lahri

पुस्तक के लेखक / Author of Book :  विष्णुतीर्थ महाराज / Vishnutirth Maharaj 

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 16 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 411

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status : Best

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण : श्री जगद्गुरु शंकराचार्य ने सौन्दर्यलहरी स्त्रोत में श्री आदि शक्ति मूलमाया एवं शुद्ध विध्या का तात्विक, यौगिक, और प्राकृतिक सगुणरूप का, रस्गार्भित, भक्तिपूर्ण, व मनोहर वर्णन किया है | भगवत्पाद ने जो अनेक ग्रन्थ तात्विक और धार्मिक विषय के लिखे हैं, उनमें ‘सौन्दर्यलहरी’ एक संकीर्ण स्त्रोत है, जिस की रचना भगवत्पाद ने बाल्यावस्था में ही की थी, ऐसा श्लोक ७५ और १०० से प्रकट होता है………….

 अन्य धार्मिक पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  “हिंदी धार्मिक पुस्तक”

Description about eBook : Sri Jagadguru Shankaracharya Shri Adi Shakti in Soundarya Lahari Mulmaya and pure source of Vindhya elemental, compound, and of natural Sgunrup, Rsgarbhit, devotional, and inviting described. Bgwatpad the many texts written material and religious topics, among them: “Soundarya Lahari ‘is a narrow source, which was only in its infancy, the composition of the Bgwatpad, it appears from verses 75 and 100……………..

To read other Religious books click here- “Hindi Religious Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“वो बढ़ई अच्छा नहीं है जो बाकी सभी से ज्यादा छीलन निकाले।”
– ए गटरमैन


——————————–
“That carpenter is not the best who makes more chips than all the rest.”
– A Gutterman

Leave a Comment