रुपये की समस्या : इसका उद्भव और समाधान : डॉ. बी.आर.अम्बेडकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Rupay ki Samsaya : Iska Udhbhav or Samadhan : by Dr. B. R. Ambedkar Hindi PDF Book

Book Name रुपये की समस्या : इसका उद्भव और समाधान / Rupay ki Samsaya : Iska Udhbhav or Samadhan
Author
Category, ,
Language
Pages 427
Quality Good
Size 68.4 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : बाबा साहेब एक कुशल शिक्षाबिद, न्‍यायबादी, राजनेता और सामाजिक क्रांति के अग्रदूत थे। बह समाज के कमजोर बर्गो, विशेष रूप से दलितों और शोषित लोगों के उत्थान के लिए समर्पित हैं, और आधुनिक भारत के निर्माण और आधुनिकीकरण में उनका योगदान अविस्मरणीय है………

PustakKaVivaran : Baba saheb ek kushal shikshaavid, nyayavid, raajaneetigy tatha saamaajik kraanti ke agradoot the. Ve jeevan bhar samaaj ke kamajor vargon, visheshakar daliton va shoshiton ke utthaan ke prati samarpit rahe aur aadhunik bhaarat ke nirmaan tatha samaaj utthaan mein unaka yogadaan avismaraneey hai…………..

Description about eBook : Baba Saheb was a skilled educationist, jurist, politician and forerunner of social revolution. He has been devoted to the upliftment of the weaker sections of society, especially the dalits and exploited people throughout his life, and his contribution to the creation and modernization of modern India is unforgettable…………..

“अपने भाग्य का नियंत्रण स्वयं कीजिए, नहीं तो कोई और करेगा।” जैक वेल्च
“Control your own destiny or someone else will.” Jack Welch

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment