प्राचीन भारत में युद्ध की कला के कुछ पहलुओं को 6 वीं शताब्दी ईसा पूर्व से हथियारों और किलेबंदी के लिए 6 वीं शताब्दी में ए.डी.विशेष संदर्भ के साथ : दिनेश कुमार केसरवानी द्वारा हिन्दी पीडीऍफ़ पुस्तक – इतिहास | Prachin Bharat Mein Yuddh ki kala ke kuchh Pahaluon ko 6th ShatabdI Isa Purv Se Hathiyaron Aur kilebandi ke Liye 6th Shatabdi Mein A.D..Vishesh Sandarbh ke Sath : By Dinesh Kumar Kesarvani Hindi PDF Book – History (Itihas)

Book Name प्राचीन भारत में युद्ध की कला के कुछ पहलुओं को 6 वीं शताब्दी ईसा पूर्व से हथियारों और किलेबंदी के लिए 6 वीं शताब्दी में ए.डी.विशेष संदर्भ के साथ / Prachin Bharat Mein Yuddh ki kala ke kuchh Pahaluon ko 6th ShatabdI Isa Purv Se Hathiyaron Aur kilebandi ke Liye 6th Shatabdi Mein A.D..Vishesh Sandarbh ke Sath
Author
Category
Language
Pages 292
Quality Good
Size 25 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : पंख युक्त बाणों का उल्लेख भी प्राचीन साहित्य में मिलता है | बाणों की चौड़ाई वाले भाग में इन पंखों को कसकर बांध दिया जाता था | हॉपकिंस के अनुसार श्वेन या बाजा, राजहंस, तथा सारस के पंख प्रमुख रूप से लगाए जाते थे | रामायण में गिद्ध के पंखो के प्रयोग का उल्लेख है | बाणों में बधे हुए पंखों का………

Pustak Ka Vivaran : Pankh Yukt Banon ka Ullekh bhi Prachin Sahity mein Milata hai. Banon ki Chaudai Vale Bhag Mein in Pankhon ko kaskar bandh diya Jata tha . Hopakins ke Anusar Shven ya baja, Rajahans, Tatha Saras ke Pankh Pramukh Roop se Lagayi jate the. Ramayan mein Giddh ke Pankho ke Prayog ka Ullekh hai. Banon mein badhe hue Pankhon ka…………

Description about eBook :The winged arrows are also mentioned in ancient literature. These wings were tied tightly in the width of the arrows. According to Hopkins, the feathers of Shaven or Baja, Flamingo, and Stork were planted prominently. The use of the feathers of the Vulture in the Ramayana is mentioned. Wings of arrows…………..

“मैं अपने जीवन को एक पेशा नहीं मानता। मैं कर्म में विश्वास रखता हूं। मैं परिस्थितियों से शिक्षा लेता हूं। यह पेशा या नौकरी नहीं है – यह तो जीवन का सार है।” स्टीव जॉब्स, संस्थापक, एप्पल
“I don’t think of my life as a career. I do stuff. I respond to stuff. That’s not a career — it’s a life!” Steve Jobs, Founder, Apple

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment