नागार्जुन कृत माध्यमकशास्त्र और विग्रहव्यावर्तनी : यशदेव शल्य | Nagarjuna Krita Madhyamak Shastra Aur Vigrahavyavartani : by Yashdeva Shalya Hindi PDF Book

Author
Category, ,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“सभी जो चर्च जाते हैं संत नहीं होते” इटली की कहावत
“All are not saints who go to church.” Italian proverb

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

नागार्जुन कृत माध्यमकशास्त्र और विग्रहव्यावर्तनी : यशदेव शल्य द्वारा हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Nagarjuna Krita Madhyamak Shastra Aur Vigrahavyavartani : by Yashdeva Shalya Hindi PDF Book 

nagarjuna-krita-madhyamak-shastra-aur-vigrahavyavartani-yashdeva-shalya-नागार्जुन-कृत-माध्यमकशास्त्र-और-विग्रहव्यावर्तनी-यशदेव-शल्य

पुस्तक का नाम / Name of Book : नागार्जुन कृत माध्यमकशास्त्र और विग्रहव्यावर्तनी / Nagarjuna Krita Madhyamak Shastra Aur Vigrahavyavartani

पुस्तक के लेखक / Author of Book : यशदेव शल्य / Yashdeva Shalya

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 52.9 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 134

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण : आधुनिक युग में देश और विदेश के अनेक विद्वान बौद्ध दर्शन के अध्ययन की ओर आकृष्ट हुए हैं और परिणामतः प्रमुखतम बौद्ध दार्शनिकों में अग्रगण्य नागार्जुन पर भी बहुत-सा लेखन हुआ है…………..

अन्य शास्त्र पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  “हिंदी शास्त्र पुस्तक”

Description about eBook : In the modern era, many scholars from the country and abroad have come to study Buddhist philosophy. And as a result, there has been a lot of writing on the leading Nagarjuna in the leading Buddhist philosophers………………

To read other Shastra books click here- “Hindi Shastra Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“सीमाएं केवल हमारे दिमाग में हैं। लेकिन अगर हम अपनी कल्पनाओं का उपयोग करें, तो हमारी संभावनाएं असीमित हो जाती हैं।”
– जेमी पाओलिनेटि


——————————–
“Limitations live only in our minds. But if we use our imaginations, our possibilities become limitless.”
– Jamie Paolinetti

Leave a Comment