मोटी बिल्ली एक डेनिश लोककथा : जैक केंट द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Moti Billi Ek Danish Lok Katha : by Jack Kent Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Name मोटी बिल्ली एक डेनिश लोककथा / Moti Billi Ek Danish Lok Katha
Author
Category, , , ,
Language
Pages 15
Quality Good
Size 712 KB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : इसके बाद, बिल्ली को एक लकड़हारा मिल्रा जिसके पास एक कुल्हाड़ी थी. “हे भगवान! तुमने क्या-क्या खाया है? तुम सच में बहुत मोटी हो. और बिल्ली ने कहा, ‘मैंने दलिया और उसका बर्तन खाया है और एक बूढ़ी औरत को भी. मैंने एक सूअर भी खाया है मैंने एक बत्ख भी खाई है और पांच पक्षियों का एक झुंड भी मैंने एक गुलाबी छतरी वाली महिला को भी खाया है मैंने टेढी लाठी वाले पादरी को भी खाया है……..

Pustak Ka Vivaran : Iske bad, billi ko ek lakdahara milra jisake pas ek kulhadi thi. “he Bhagwan! Tumane kya-kya khaya hai? Tum sach mein bahut moti ho. aur billi ne kaha, Mainne daliya aur uska bartan khaya hai aur ek boodhi aurat ko bhi. Mainne ek sooar bhi khaya hai mainne ek batkh bhi khai hai aur paanch pakshiyon ka ek jhund bhi mainne ek gulabi chhatari vali mahila ko bhi khaya hai mainne tedhi lathi vale padari ko bhi khaaya hai……..

Description about eBook : After this, the cat found a woodcutter who had an ax. “Oh my God! What have you eaten? You’re really fat. And the cat said, ‘I’ve eaten porridge and its pot, and an old woman too. I’ve eaten a boar. I’ve eaten a duck too’ And a flock of five birds also I have eaten a lady with a pink umbrella I have also eaten a priest with crooked sticks…….

“मात्र वही सही कार्य होते हैं जिनके लिए कोई स्पष्टीकरण तथा कोई क्षमा न मांगनी पड़े।” ‐ रेड ओयूरबैक
“The only correct actions are those that demand no explanation and no apology.” ‐ Red Auerbach

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment