मालिक और मजदूर : लिओ टालस्टाय द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Malik Aur Mazdoor : by Leo Tolstoy Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Name मालिक और मजदूर / Malik Aur Mazdoor
Author
Category, , , ,
Language
Pages 122
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

मालिक और मजदूर का संछिप्त विवरण : यह पुस्तिका रूसी महापुरुष टांलस्टाय के कुछ निबंधों को सग्रह हैं। महर्षि टालस्टाय ने इन निबंधों में हमारे वर्तमान समाज की ‘ अवस्था पर गहराई के साथ विचार किया है। ‘मालिक और मजदूरः नाम से पाठक इस भ्रम में न पडें कि इन निबंधों में कारखानो मे काम करने वाले श्रमजीवियों और पूजीपतियों की समस्या पर ही विचार किया………

Malik Aur Mazdoor PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Yah Pustika roosee mahapurush Tolstay ke kuchh nibandhon ko sagrah hain. Maharshi tolstay ne in nibandhon mein hamare vartman samaj ki avastha par gaharayi ke sath vichar kiya hai. Malik aur Majdoorah nam se pathak is bhram mein na paden ki in nibandhon mein karakhano me kam karne vale shramajeeviyon aur poojipatiyon ki samasya par hi vichar kiya………
Short Description of Malik Aur Mazdoor PDF Book : This booklet is a collection of some of the essays of the Russian great man Tolstoy. Maharishi Tolstoy has deeply considered the condition of our present society in these essays. The reader should not fall under the illusion by the name ‘Master and Laborer’ that in these essays only the problem of workers and capitalists working in factories has been considered……..
“सफलता वह सौभाग्य है जो कि उच्चाकांक्षा, साहस, पसीना बहाने और प्रेरणा से प्राप्त होता है।” ‐ ईवान ईसार
“Success is the good fortune that comes from aspiration, desperation, perspiration and inspiration.” ‐ Evan Esar

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment