किताबें मिलीं : मनोज मोहन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – साहित्य | Kitaben Milin : by Manoj Mohan Hindi PDF Book – Literature (Sahitya)

Book Name किताबें मिलीं / Kitaben Milin
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 2 MB
Quality Good
Size 5 MB
Download Status Available

किताबें मिलीं का संछिप्त विवरण : यही कारण है कि उनकी अवधारणाओं और उनके आलोक में हम इतिहास और संस्कृति की किसी एक लीक पर नहीं चल सकते | गाँधी पर जिसने भी लिखा है, वह देर-सवेर धीरे-धीरे फिसलते हुए इस किनारे या उस किनारे चला जाता है। बनवारी ने इस किताब में संतुलन साधने का प्रयास किया है। भारत का स्वराज्य और महात्मा गाँधी…..

Kitaben Milin PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Yahi karan hai ki unki avadharanaon aur unke aalok mein ham itihas aur sanskrti ki kisi ek leek par nahin chal sakate. Gandhi par jisane bhi likha hai, vah der-saver dheere-dheere phisalate huye is kinare ya us kinare chala jata hai. banvari ne is kitab mein santulan sadhane ka prayas kiya hai. Bharat ka svarajy aur Mahatma Gandhi…..
Short Description of Kitaben Milin PDF Book : This is the reason why we cannot follow any single rut of history and culture in their concepts and their light. Whoever has written on Gandhi, sooner or later, slowly slips to this side or that side. Banwari has tried to strike a balance in this book. Swaraj of India and Mahatma Gandhi…..
“कोई आप पर ध्यान दे वह उदारता का सबसे दुर्लभ और सबसे शुद्ध रूप है।” सिमोन वैल
“Attention is the rarest and purest form of generosity.” Simone Weil

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment