कथा कहानी का शास्त्र : जिजुभाई बधेका | Katha Kahani Ka Shastra : by Gijubhai Badheka Hindi PDF Book

Author
Category, ,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“सिर्फ उन लोगों को अपने चारों ओर इकट्ठा करें जो आपको और ऊपर ले जा पाएं।” ओपराह विनफ्रे
“Surround yourself only with people who are going to lift you higher.” Oprah Winfrey

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

कथा कहानी का शास्त्र : जिजुभाई बधेका द्वारा हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Katha Kahani Ka Shastra : by Gijubhai Badheka Hindi PDF Book

katha-kahani-ka-shastra-gijubhai-badheka-कथा-कहानी-का-शास्त्र-जिजुभाई-बधेका

पुस्तक का नाम / Name of Book : कथा कहानी का शास्त्र / Katha Kahani Ka Shastra

पुस्तक के लेखक / Author of Book : जिजुभाई बधेका / Gijubhai Badheka

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 5.4 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 112

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण : हमारे साथियों ने जब यहाँ पर सन १९५४ में अभिनव बालभारती नामक संस्था स्थापित की थी, तभी मेरे जेहन में बाल-शिक्षण के साथ अध्यापकों को प्रशिक्षण देने का विचार भी उठ रहा था…………..

अन्य योग पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  “हिंदी योग पुस्तक”

Description about eBook : When our colleagues founded Abhinav Balbharti in 1954, here, in my mind, the idea of training teachers with child education was also rising……………..

To read other Yoga books click here- “Hindi Yoga Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“लोगों का अपनी शक्ति खो देने का सबसे आम तरीका है उनकी यह सोच कि उनके पास शक्ति है ही नहीं। ”
– ऐलिस वॉकर


——————————–
“The most common way people give up their power is by thinking they don’t have any. ”
– Alice Walker

Leave a Comment