कागज की नावें : रबीन्द्रनाथ टैगोर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Kagaj Ki Naven : by Rabindra Nath Tagore Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Name कागज की नावें / Kagaj Ki Naven
Author
Category,
Language
Pages 26
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

कागज की नावें का संछिप्त विवरण : मैं अपनी कागज की नावों को नदी में तैराता हूँ। फिर मैं ऊपर आसमान की ओर देखता हूँ जहाँ मुझे बादलों में, फूली रुई जैसे पाल नजर आते हैं। मुझे पता नहीं कि मेरे किस दोस्त में उन बादलों को आसमान से नीचे, मेरी नावों के साथ रेस लगाने भेजा है। रात होने पर मैं अपने चेहरे को होने पर अपने हाथों में छिपा लेता था……

Kagaj Ki Naven PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Main apni kagaj ki navon ko nadi mein tairata hoon. Phir main oopar aasman ki or dekhata hoon jahan mujhe badalon mein, phooli ruee jaise pal najar aate hain. Mujhe pata nahin ki mere kis dost mein un badalon ko aasman se neeche, meri navon ke sath res lagane bheja hai. Rat hone par main apne chehare ko hone par apane hathon mein chhipa leta tha……
Short Description of Kagaj Ki Naven PDF Book : I float my paper boats in the river. Then I look up at the sky where I see puffy cotton sails in the clouds. I don’t know which friend of mine sent those clouds down from the sky to race with my boats. I used to hide my face in my hands when it was night……
“सीखने से मस्तिष्क कभी नहीं थकता है।” – लियोनार्डो दा विंची
“Learning never exhausts the mind. ” – Leonardo da Vinci

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment