जयद्रथ-वध : मैथिलीशरण गुप्त द्वारा मुफ्त हिंदी पुस्तक | Jaidrath Vadh : by Maithilisharan Gupt Free Hindi Book

Author,
Category, , ,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“निराशावादी व्यक्ति पवन के बारे में शिकायत करता है; आशावादी इसका रुख बदलने की आशा करता है; लेकिन यथार्थवादी पाल को अनुकूल बनाता है।” विलियम आर्थर वार्ड
“The pessimist complains about the wind; the optimist expects it to change; the realist adjusts the sails.” William Arthur Ward

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

जयद्रथ-वध : मैथिलीशरण गुप्त द्वारा मुफ्त हिंदी पुस्तक | Jaidrath Vadh : by Maithilisharan Gupt Free Hindi Book 

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )
Jaidrath-Vadh-Maithilisharan-Gupt-जयद्रथ-वध-मैथिलीशरण-गुप्त

पुस्तक का नाम / Name of Book : जयद्रथ-वध

पुस्तक के लेखक / Author of Book : मैथिलीशरण गुप्त

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी 

Size of Ebook : 3 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 100

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

पुस्तक का विवरण / Description about eBook : 

चाचक | प्रथम सर्वत्र ही ‘जय जानकी-जीवन’ कहो,

फिर पूर्वजों के शील की शिक्षा-तरंगों में बहो |

दुःख शोक जब जो आ पड़े, सो धेर्यपूर्वक सब सहो,

होगी सफलता क्यों नहीं कर्तव्य-पथ पर द्रढ़ रहो |

अधिकार खोकर बैठ रहना, यह महा दुष्कर्म है ;

न्यायार्थ अपने बन्धु को भी दण्ड देना धर्म है |

इस तत्व पर ही कौरवों से पांडवों का रण हुआ,

जो भव्य भारतवर्ष के कल्पान्त का कारण हुआ ||


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 







श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“अपने डैनों के ही बल उड़ने वाला कोई भी परिंदा बहुत ऊंचा नहीं उड़ता।”
– विलियम ब्लेक
——————————–
“What we are is God’s gift to us. What we become is our gift to God.” 
– William Blake

Leave a Comment