हिंदू धर्म की पहेलियाँ : डॉ. बी.आर .अम्बेडकर द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक | Hindu Dharam ki Paheliyan : by Dr. B.R. Ambedkar Hindi PDF Book

Book Name हिंदू धर्म की पहेलियाँ / Hindu Dharam ki Paheliyan
Author
Category
Pages 359
Quality Good
Size 43.3 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : यह कहा जा सकता है कि मैंने हिंदुओं की धार्मिक पुस्तकों का सम्मान नहीं किया है, जो धार्मिक पुस्तकों की ओर होना चाहिए। धार्मिक किताबों को सम्मानित नहीं किया जा सकता है। यह सम्मान सामाजिक परिस्थितियों से उत्पन्न या हटा दिया जाता है। शास्त्रों की ओर ब्राह्मणों का सम्मान प्राकृतिक है, लेकिन यह गैर-बारहमैन के लिए अप्राकृतिक है। यह भेदभाव आसानी से समझा जा सकता है…….

Pustak Ka Vivaran : Yah kaha ja sakata hai ki hinduo ki dharmik pustakon ke prati mainne vah aadar prakat nahin kiya hai, jo dharmik pustakon ke prati hona chaahie. Dhaarmik pustakon ke prati shraddha karai nahin ja sakatee. Yah shraddha to samaajik sthitiyon se svayan utpann hoti hai athava hatati hai. Dharm grantho ke prati brahamanon kee shraddha to svaabhaavik hai, parantu gair -barahamanon ke liye yah asvaabhaavik hai. Yah bhedabhaav saralata se samajha ja sakata hai…………..

Description about eBook : It can be said that I have not shown respect for religious books of Hindus, which should be towards religious books. Religious books can not be revered. This reverence is generated or removed from the social situations itself. The reverence of the Brahmins towards the scriptures is natural, but it is unnatural for non-babrahmans. This discrimination can be easily understood…………..

“महिलाएं विवाह करती हैं इस आस में कि पुरुष बदल जाएंगे। पुरुष विवाह करते हैं इस आस में कि महिलाएं नहीं बदलेंगी। इसलिए दोनों निस्संदेह रूप से निराश ही होते हैं।” ‐ अल्बर्ट आइन्सटाइन
“Women marry men hoping they will change. Men marry women hoping they will not. So each is inevitably disappointed.” ‐ Albert Einstein

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment