एक ही दुनिया : वेन्डेल एल० विल्की द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – सामाजिक | Ek Hi Duniya : by Wendell L. Wilkie Hindi PDF Book – Social (Samajik)

Book Name एक ही दुनिया / Ek Hi Duniya
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 274
Quality Good
Size 8 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : इसका कारण यह है कि मि० विल्की ने अपने इस भ्रमण वृत्तान्त में युद्धोत्तर काल में जाति, वर्ण, धर्म निर्विशेष संसार के समस्त निपीड़ित, अनुव्रत एवं पराधीन जातियों के लिए पूर्ण राजनीतिक एवं आर्थिक स्वाधीनता का तथा उनके समानधिकार दावा मित्र पक्ष की सम्मिलित शक्तियों के सामने बड़ी दृढ़ता और साहस के साथ पेश किया है………

Pustak Ka Vivaran : Isaka Karan yah hai ki Mr. Vilkee ne Apane is Bhraman Vrttant mein yuddhottar kal mein jati, Varn, Dharm Nirvishesh sansar ke samast Nipeedit, Anuvrat evan paradheen Jatiyon ke liye poorn Rajneetik evan aarthik svadheenata ka tatha unake samanadhikar dava Mitra paksh kee sammilit shaktiyon ke Samane badi Drdhata aur Sahas ke sath pesh kiya hai…………..

Description about eBook : The reason for this is that Mr. Wilkie, in his tour of this post-war period, castes, varnas, religions, claims complete political and economic freedom for all the compressed, dependent and subjugated castes of the world and their equal rights in front of the allied powers of the Allies. Have presented with great perseverance and courage…………..

“कोई गलती न करना मनुष्य के बूते की बात नहीं है, लेकिन अपनी त्रुटियों और गलतियों से समझदार व्यक्ति भविष्य के लिए बुद्धिमत्ता अवश्य सीख लेते हैं।” ‐ प्लूटार्क
“To make no mistakes is not in the power of man; but from their errors and mistakes the wise and good learn wisdom for the future.” ‐ Plutarch

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment