बूढी औरत और चील : इदरीस शाह द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Budhi Aurat Aur Cheel : by Idrish Shah Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Name बूढी औरत और चील / Budhi Aurat Aur Cheel
Author
Category, , , ,
Language
Pages 18
Quality Good
Size 4.3 MB
Download Status Available
बूढी औरत और चील पीडीऍफ़ पुस्तक का संछिप्त विवरण : जैसे ही बुढ़िया ने उसे जाने दिया चील उड़कर एक पेड़ की डाल पर जाकर बैठ गई. वो वहाँ बैठकर यह सोच रही थी कि वो अब क्या करे. तभी एक और चील आई और उसके पास वाली टहनी पर बैठ गई. “अरे!” नई चील ने कहा. “तुम एक बड़ी अजीब सी दिखने वाली चील हो?” “ठीक है, कम-से-कम तुम्हें इतना तो पता है कि मैं एक चील हूँ,” पहली चील ने कहा. “इसके लिए भगवान का………..
Budhi Aurat Aur Cheel PDF Pustak Ka Sankshipt Vivaran : Jaise hi Budhiya ne use jane diya cheel udakar ek ped ki dal par jakar baith gayi. Vo vahan baithakar yah soch rahi thee ki vo ab kya kare. Tabhi ek aur cheel aayi aur uske pas vali tahani par baith gayi. “Are!” Nayi cheel ne kaha. “Tum ek badi Ajeeb si dikhane vali cheel ho?” “Theek hai, kam-se-kam tumhen itana to pata hai ki main ek cheel hoon,” Pahli cheel ne kaha. “Iske liye Bhagwan ka………..
Short Description of Budhi Aurat Aur Cheel Hindi PDF Book : As soon as the old lady let him go, the eagle flew away and sat on the branch of a tree. She was sitting there thinking what she should do now. Then another eagle came and sat on the branch next to it. “Oho!” said the new eagle. “You’re a strange looking eagle?” “Well, at least you know I’m an eagle,” said the first eagle. “God’s for this………..
“सफलता की गिनती यह नहीं कि आप खुद कितने ऊंचे तक उठे हैं बल्कि इसमें कि आप अपने साथ कितने लोगों को लाएं हैं।” विल रॉस
“Success is not counted by how high you have climbed but by how many people you have brought with you.” Wil Rose

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment