भिखाई जी कामा : डॉ. निर्मला जैन द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – जीवनी | Bhikhai Ji Kama : by Dr. Nirmala Jain Hindi PDF Book – Biography (Jeevani)

Book Name भिखाई जी कामा / Bhikhai Ji Kama
Author
Category, , , , ,
Language
Pages 257
Quality Good
Size 8.3 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : किन्तु हमने देखा है कि अच्छे पाठ्यक्रम और अच्छी पाठ्यपुस्तकों के बावजूद हमारे विद्यार्थियों की रुचि स्वतः पढ़ने की ओर अधि नहीं बढ़ती। इसका एक मुख्य कारण अवश्य ही हमारी दूषित परीक्षागप्रणाती है, जिसमें पाठ्यपुस्तकों में दिए गए ज्ञान की ही…….

Pustak Ka Vivaran : Kintu Hamane dekha hai ki achchhe pathyakram aur achchhi pathyapustakon ke bavajood hamare vidyarthiyon ki ruchi svatah padhane ki or adhi nahin badhati. Isaka ek mukhy karan avashy hi hamari dooshit parikshagapranati hai, jisamen pathyapustakon mein diye gaye gyan ki hi…….
Description about eBook : But we have seen that in spite of good syllabus and good textbooks, the interest of our students does not increase towards self-reading. One of the main reasons for this is definitely our corrupt examination process, in which only the knowledge given in the textbooks…….

“आप प्रत्येक ऐसे अनुभव जिसमें आपको वस्तुत डर सामने दिखाई देता है, से बल, साहस तथा विश्वास अर्जित करते हैं। आपको ऐसे कार्य अवश्य करने चाहिए जिनके बारे में आप सोचते हैं कि आप उनको नहीं कर सकते हैं।” – एलेनोर रुज़वेल्ट
“You gain strength, courage, and confidence by every experience in which you really stop to look fear in the face. You must do the thing which you think you cannot do.” – Eleanor Roosevelt

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment