भारतीय चित्त मानस और काल : धर्मपाल द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Bhartiya Chitt Manas Aur Kaal : by Dharmpal Free Hindi PDF Book

Author,
Category, , ,
Language
पुस्तक का डाउनलोड लिंक नीचे हरी पट्टी पर दिया गया है|
“जब आप अपने मित्रों का चयन करते हैं तो चरित्र के स्थान पर व्यक्तित्व को न चुनें।” डब्ल्यू सोमरसेट मोघम
“When you choose your friends, don’t be short-changed by choosing personality over character.” W. Somerset Maugham

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

भारतीय चित्त मानस और काल : धर्मपाल द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Bhartiya Chitt Manas Aur Kaal : by Dharmpal Free Hindi PDF Book

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )

bhartiya-chitt-manas-aur-kaal-dharmpal-भारतीय-चित्त-मानस-और-धर्मपाल

पुस्तक का नाम / Name of Book : भारतीय चित्त मानस और काल / Bhartiya Chitt Manas Aur Kaal

पुस्तक के लेखक / Author of Book : धर्मपाल / Dharmpal

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 4 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 252

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )

राजीव दीक्षित एवं आर्या जी का आभार

पुस्तक का विवरण : हमारे पैरों के नीचे कोई जमीन नहीं है| अपने चित्त व काल का अपना कोई चित्र नहीं है| अपनी कोई विश्वदृष्टि नहीं है| इसलिए ठीक-थक चलने वाले समाजों के लोग जो बातें सहज ही जान जाते हैं वही बातें हमे भूलभुलैया में डाले रखती हैं| राज समाज व व्यक्ति के आपसी सम्बन्ध क्या होते हैं? किन-किन क्षेत्रों में इनमें किस-किसकी प्रधानता होती है? व्यक्ति-व्यक्ति के बीच सम्बन्ध के आधार क्या हैं? शील क्या होता है? शिष्ट आचरण क्या होता है? शिक्षा क्या होती है? सौन्दर्य क्या होता है? इस प्रकार के अनेक प्रश्न हैं जिनके उत्तर एक स्वस्थ समाज में किसीको खोजने नहीं पड़ते…………..

अन्य सामाजिक पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  “हिंदी सामाजिक पुस्तक”

Description about eBook : There is no land under our feet. There is no picture of my mind and time. You have no worldview. Therefore, the things that are easily understood by the well-tired societies keep the same things in the maze. What are the relation between the society and the society? In which areas do they have the primacy? What are the basis of the relationship between a person? What is the motivation? What is decent conduct? What is education? What is beauty? There are many such questions which do not have to be answered in a healthy society………………

To read other Social books click here- “Hindi Social Books”


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें



इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 

श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 

One Quotation / एक उद्धरण
“चरित्र एक हीरा है जो हर पत्थर को तराश करता है।”
– सायरस बारटॉल


——————————–
“Character is a diamond that scratches every other stone.”
– Cyrus Bartol

Leave a Comment