बाघ के गले में घंटी : हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Bagh Ke Gale Mein Ghanti : Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Name बाघ के गले में घंटी / Bagh Ke Gale Mein Ghanti
Category, , , ,
Language
Pages 16
Quality Good
Size 1.5 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : इससे पहले कि बॉब कुछ बोल पाता, ओज़ी बक्सों के ऊपर चढ़ गया था. जब वो शीर्ष पर पहुंचा, फिर उसे सोचने या दूरी के आकलन में समय नहीं लगा – वो बस हवा में कूदा और सींधा शेल्फ पर जाकर गिरा. फिर उसने कॉलर को हिलाया और उसे असंतुलित किया. धीरे से शेल्फ हिला, और झुका हुआ कॉलर नीचे खिसकने लगा और फिर घंटी बजाता हुआ बॉब के………..

Pustak Ka Vivaran : Isase pahle ki bob kuchh bol pata, ozee bakson ke oopar chadh gaya tha. Jab vo sheersh par pahuncha, phir use sochane ya doori ke aakalan mein samay nahin laga – vo bas hava mein kooda aur seendha shelph par jakar gira. Phir usne kolar ko hilaya aur use asantulit kiya. Dheere se shelph hila, aur jhuka hua kolar neeche khisakane laga aur phir ghanti bajata huya bob ke………..

Description about eBook : Before Bob could say anything, Ozzy had climbed on top of the boxes. When he reached the top, it took him no time to think or measure the distance – he simply jumped in the air and fell straight onto the shelf. Then he shook the collar and unbalanced it. Slowly the shelf shook, and the hooked collar began to slide down, and then to Bob’s ringing bell……….

“परिवर्तन को जो ठुकरा देता है वह क्षय का निर्माता है। केवलमात्र मानव व्यवस्था जो प्रगति से विमुख है वह है कब्रगाह।” ‐ हैरल्ड विल्सन
“He who rejects change is the architect of decay. The only human institution which rejects progress is the cemetery.” ‐ Harold Wilson

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment