अनाथों की ट्रेन : ईव द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – बच्चों की पुस्तक | Anathon Ki Train : by Eve Hindi PDF Book – Children’s Book (Bachchon Ki Pustak)

Book Name अनाथों की ट्रेन / Anathon Ki Train
Author
Category, , , ,
Language
Pages 33
Quality Good
Size 2 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : 1850 से 1920 तक करीब एक लाख बेघर बच्चों को अमेरिका मे न्यू-याक स्टेशन से ट्रेन दवारा पश्चिम के छोटे शहरों और फार्म्स पर भेजा गया ‘ चिल्डून ऐड सोसाइटी के चार्ल्स लोरिंग ब्रेस इन अनाथ बच्चों के लिए अच्छी देखभाल करने वाले परिवार खोज रहे थे। ऐसे परिवार जो इन बच्चो को गॉड ले और उनकी परिवरिश करे ……….

Pustak Ka Vivaran : 1850 se 1920 Tak Kareeb ek Lakh beghar bachchon ko Amerika mein nyoo-york steshan se tren dvara pashchim ke chhote shaharon aur Farms par bheja gaya  children aid socsaity ke charls loring bres in anath bachchon ke liye achchhi dekhabhal karane vale parivar khoj rahe the.  Aise Parivar jo in bachcho ko god le aur unaki parivarish kare………….

Description about eBook : From 1850 to 1920, about one lakh homeless children were searching from a New York station train in the United States to the small towns and farms of the West, ‘The Charles Loring Brace in the Children’s Ad Society was searching for families looking for good care for orphans. Such families who take these children to God and bring about them…………..

“पढ़ाई और जीवन में क्या अंतर है? स्कूल में आपको पाठ सिखाते हैं और फिर परीक्षा लेते हैं। जीवन में पहले परीक्षा होती है और फिर सबक सिखने को मिलता है।” ‐ टॉम बोडेट
“The difference between school and life? In school, you’re taught a lesson and then given a test. In life, you’re given a test that teaches you a lesson.” ‐ Tom Bodett

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment