भारत में आर्थिक नियोजन : राधाकृष्णन डॉ सर्वपल्ली द्वारा हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Bharat Me Arthik Niyojan : by Radhakrishnan Dr Sarvapalli Hindi PDF Book


bharat-me-arthik-niyojan-radhakrishnan-dr-sarvapalli-भारत-में-आर्थिक-नियोजन-राधाकृष्णन-डॉ-सर्वपल्ली



पुस्तक का नाम / Name of Book : भारत में आर्थिक नियोजन / Bharat Me Arthik Niyojan

पुस्तक के लेखक / Author of Book : राधाकृष्णन डॉ सर्वपल्ली / Radhakrishnan Dr Sarvapalli

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 1.6 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 81

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 
(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )


पुस्तक का विवरण : २६ जनवरी सन ९६५० को भारतीय संविधान लागु होने के बाद ही भारत सरकार ने योजना आयोग की, जिसका प्रमुख उद्धेश्य भारत के आर्थिक विकास तथा लोगों के रहन-सहन के स्तर में सुधार करने के लिए पंचवर्षीय योजनायें तैयार करना था..............

अन्य अध्यात्मिक पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  "हिंदी अध्यात्मिक पुस्तक"

Description about eBook : Only after the implementation of the Indian Constitution on January 26, 2006, the Government of India had prepared the Five Year Plans to improve the level of economic development of India and the level of living conditions of the Planning Commission..................

To read other Spiritual books click here"Hindi Spiritual Books"


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें





इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 







श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 


One Quotation / एक उद्धरण

“अपने सपनों की ओर आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ें। ज़िन्दगी को वैसे ही जिएं जैसा इसे जीने की आप ने कल्पना की है।”
हेनरी डेविड थोरू

--------------------------------

“Go confidently in the direction of your dreams. Live the life you have imagined.”

Henry David Thoreau






जो करते हैं हिंदी कहानियों से प्यार ! उनका यहाँ स्वागत है

Your Hindi Blog .com

कमेंट करके हमें उन पुस्तकों के बारे में जरुर बताये , जिन्हें आप डाउनलोड नही कर पा रहें

Post a Comment

 
Top