अपना रास्ता लो बाबा : काशीनाथ सिंह द्वारा हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Apna Rasta Lo Baba : by Kashinath Singh Hindi PDF Book


apna-rasta-lo-baba-kashinath-singh-अपना-रास्ता-लो-बाबा-काशीनाथ-सिंह



पुस्तक का नाम / Name of Book : अपना रास्ता लो बाबा / Apna Rasta Lo Baba

पुस्तक के लेखक / Author of Book : काशीनाथ सिंह / Kashinath Singh

पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi

पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 1 MB

कुल पन्ने / Total pages in ebook : 18

पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 
(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )


पुस्तक का विवरण : देवनाथ सिगरेट खरीद रहे थे| तभी बगल की दुकान से एक आवाज सुने पड़ी| कोई उनकी गली का रास्ता पूछ रहा था| आवाज जानी पहचानी थी| उस तरफ देखने की हिम्मत न जुटा सके| झटपट घर पहुँचने का छोटा रास्ता पकड़ा..............

अन्य उपन्यास पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  "हिंदी उपन्यास पुस्तक"

Description about eBook : Devanath was buying cigarettes. Then a voice heard from the next store. Someone was asking for their street. Voice was known. Could not raise the courage to see that side. Instantly caught the shortest way to reach home................

To read other Novel books click here"Hindi Novel Books"


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें





इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 






श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 


One Quotation / एक उद्धरण

“हर दिन मेरा सर्वश्रेष्ठ दिन है; यह मेरी जिन्दगी है। मेरे पास यह क्षण दुबारा नहीं होगा।”
बर्नी सीगल

--------------------------------

“Every day is my best day; this is my life. I'm not going to have this moment again.” 

Bernie Siegel






जो करते हैं हिंदी कहानियों से प्यार ! उनका यहाँ स्वागत है

Your Hindi Blog .com

कमेंट करके हमें उन पुस्तकों के बारे में जरुर बताये , जिन्हें आप डाउनलोड नही कर पा रहें

Post a Comment

  1. भाई आपका कार्य सराहनीय है हो सके तो शिवजी सावंत की छावा का हिंदी अनुवाद या महुआ मांझी का कोई उपन्यास जरूर अपलोड करें।

    ReplyDelete

 
Top