श्रीकृष्ण चालीसा मुफ्त हिंदी पीडीएफ पुस्तक | Shri Krishna Chalisa Free Hindi PDF Book

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )

shri-krishna-chalisa-श्रीकृष्ण-चालीसा



पुस्तक का नाम / Name of Book : श्रीकृष्ण चालीसा / Shri Krishna Chalisa


पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi


पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 200 KB


कुल पन्ने / Total pages in ebook : 2


पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )


पुस्तक का विवरण : हिंदू धर्म के अनुसार श्री कृष्ण जी को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है। श्री कृष्ण को पूर्णावतार भी कहा जाता है क्योंकि उनके मृत्यु लोक के सभी चरणों को भोगा है। मान्यता है कि भक्ति-भाव से भगवान कृष्ण की पूजा करने से सफलता, सुख और शांति की प्राप्ति होती है। कृष्ण जी को मक्खन बहुत पसंद होता है। श्री कृष्ण वंदना के लिए लोग "हरे कृष्णा हरे कृष्णा" का जाप करते हैं। साथ ही कृष्ण जी की पूजा में उनकी चालीसा को भी बेहद महत्त्वपूर्ण माना जाता है.............

अन्य धार्मिक पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  "हिंदी धार्मिक पुस्तक"


Description about eBook : According to Hindu religion, Shri Krishna is believed to be the incarnation of Lord Vishnu. Shri Krishna is also called Purnavatar because his death has taken all the steps of the people. It is believed that by worshiping Lord Krishna with devotion, success, happiness and peace are attained. Krishna ji loves butter too much. For Shri Krishna Vandana, people chant "Hare Krishna Hare Krishna". At the same time, his chalisa in the worship of Krishna ji is also considered very important...............

To read other Religious books click here"Hindi Religious Books"


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें





इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 







श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 


One Quotation / एक उद्धरण

“जीवन के प्रति आपका रुख निश्चित करता है जीवन का आपके प्रति रुख।”
जॉन एन. मिशेल

--------------------------------

“Our attitude toward life determines life's attitude towards us.”
John N. Mitchell






जो करते हैं हिंदी कहानियों से प्यार ! उनका यहाँ स्वागत है

Your Hindi Blog .com

कमेंट करके हमें उन पुस्तकों के बारे में जरुर बताये , जिन्हें आप डाउनलोड नही कर पा रहें

Post a Comment

 
Top