बीता हुआ भविष्य : बाल फोंडके द्वारा मुफ्त हिंदी पीडीऍफ पुस्तक | Bita Hua Bhavishya : by Bal Phondke Free Hindi PDF Book

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )

bita-hua-bhavishya-bal-phondke-बीता-हुआ-भविष्य-बाल-फोंडके



पुस्तक का नाम / Name of Book : बीता हुआ भविष्य / Bita Hua Bhavishya


पुस्तक के लेखक / Author of Book : बाल फोंडके / Bal Phondke


पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi


पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 14 MB


कुल पन्ने / Total pages in ebook : 274


पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )


पुस्तक का विवरण : विभिन्न भारतीय भाषाओँ की चुनी हुई विज्ञान कथाओं के संकलन इससे पहले भी प्रकाशित हुए हैं| फिर भी, ऐसा कोई संकलन अभी तक नहीं छपा जिसमें क्षेत्रीयता की सीमाओं को लांघकर भारतीय विज्ञान कथा-साहित्य का प्रतिनिधित्व करने वाली रचनाएं संकलित की गयी हों| लेकिन विज्ञान कथा-साहित्य के विश्व के मानचित्र पर भारत का नाम अंकित करने की दिशा में अंततः नेशन बुक ट्रस्ट ने पहल की, तथा इस पहल के लिए पुस्तक की रचनाओं के चुनाव और सम्पादन की जिम्मेदारी मुझे सौंपने पर मैं नेशनल बुक ट्रस्ट के प्रति अपना आभार प्रकट करता हूँ..............


अन्य उपन्यास पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  "हिंदी उपन्यास पुस्तक"


Description about eBook : The compilation of selected science tales of various Indian languages ​​has been published before. Nevertheless, such a compilation has not yet been published which compiles the boundaries of regionalism compiling compositions representing Indian science fiction. But in order to mark the name of India on the map of the world of science fiction, Nation Book Trust took the initiative, and after handing over responsibility for the election and editing of the book's compositions for this initiative, I have accepted myself towards the National Book Trust I express gratitude.................


To read other Novel books click here"Hindi Novel Books"


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें





इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 







श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 


One Quotation / एक उद्धरण

“आपकी चाल के धीमा होने का फ़र्क तब तक नहीं पड़ता जब तक कि आप रुक न जाएं।”
कन्फ्यूशियस

--------------------------------

“It does not matter how slowly you go as long as you do not stop.” 
Confucius






जो करते हैं हिंदी कहानियों से प्यार ! उनका यहाँ स्वागत है

Your Hindi Blog .com

कमेंट करके हमें उन पुस्तकों के बारे में जरुर बताये , जिन्हें आप डाउनलोड नही कर पा रहें

Post a Comment

 
Top