सदगति : मुंशी प्रेमचंद द्वारा मुफ्त हिंदी कहानी पीडीऍफ़ पुस्तक | Sadgati : by Munshi Premchand Free Hindi Story PDF Book

( Download Link Given Below / डाउनलोड लिंक नीचे दिया गया हैं )

sadgati-munshi-premchand-सदगति-मुंशी-प्रेमचंद



पुस्तक का नाम / Name of Book : सदगति / Sadgati


पुस्तक के लेखक / Author of Book : मुंशी प्रेमचंद / Munshi Premchand


पुस्तक की भाषा / Language of Book : हिंदी / Hindi


पुस्तक का आकर / Size of Ebook : 1.03 MB


कुल पन्ने / Total pages in ebook : 28


पुस्तक डाउनलोड स्थिति / Ebook Downloading Status  : Best 

(Report this in comment if you are facing any issue in downloading / कृपया कमेंट के माध्यम से हमें पुस्तक के डाउनलोड ना होने की स्थिति से अवगत कराते रहें )


पुस्तक का विवरण : प्रेमचंद आजादी के आन्दोलन के दौर के लेखक हैं| ब्रिटिश साम्राज्यवाद से लोहा लेने के लिए उस दौर में यह महसूस किया गया कि अपने समाज में फैली बुराइयों को दूर किया जाए, क्योंकि अपने समाज के अन्यायमूलक ढाँचों की निर्मम समीक्षा करते हुए ही आजादी और न्याय की लड़ाई लड़ी जा सकती है.............


अन्य उपन्यास पुस्तकों के लिए यहाँ दबाइए-  "हिंदी उपन्यास पुस्तक"


Description about eBook : Premchand is the author of the movement of freedom movement. In order to take the iron from British imperialism, it was realized that the evils spread in their society should be removed, because fighting against the injustice of our society can be fought with freedom and justice................


To read other Novel books click here"Hindi Novel Books"


सभी हिंदी पुस्तकें ( Free Hindi Books ) यहाँ देखें





इस पुस्तक को दुसरो तक पहुचाएं 







श्रेणियो अनुसार हिंदी पुस्तके यहाँ देखें 


One Quotation / एक उद्धरण

“जीवन को दो सबसे महत्त्वपूर्ण दिन हैं, पहला जिस दिन आपका जन्म हुआ और दूसरा दिन जब आपको ज्ञान हुआ कि क्यों।”
मार्क ट्वैन

--------------------------------

“The two most important days in your life are the day you are born and the day you find out why.”
Mark Twain






जो करते हैं हिंदी कहानियों से प्यार ! उनका यहाँ स्वागत है

Your Hindi Blog .com

कमेंट करके हमें उन पुस्तकों के बारे में जरुर बताये , जिन्हें आप डाउनलोड नही कर पा रहें

Post a Comment

 
Top