महाशिवरात्रि कश्मीरी पद्धति की विशेषता : त्रिलोकी नाथ पण्डित द्वारा हिंदी पीडीऍफ़ पुस्तक – धार्मिक | Maha Shivratri Kashmiri Paddhati Ki Visheshata : by Triloki Nath Pandit Hindi PDF Book – Religious (Dharmik)

Book Name महाशिवरात्रि कश्मीरी पद्धति की विशेषता / Maha Shivratri Kashmiri Paddhati Ki Visheshata
Author
Category, , , ,
Language
Pages 28
Quality Good
Size 15.7 MB
Download Status Available

पुस्तक का विवरण : महाशिवरात्रि हिन्दुओं के प्रमुख त्यौहारों में एक विशेष त्यौहार भारत भर में माना जाता है। परन्तु कश्मीरी हिन्दुओं के लिए तो यह सर्वोत्कृष्ट त्यौहार माना जाता है। शिवमत का प्रादुर्भाव मुख्य रूप से कश्मीर में ही हुआ और वहीं पर पराकाष्टा को पहुँच गया | स्वनामधन्य शैवाचार्य कश्मीर में ही……….

Pustak Ka Vivaran : Mahashivratri hinduon ke pramukh tyauharon mein ek vishesh tyauhar bharat bhar mein mana jata hai. Parantu kashmiri hinduon ke liye to yah sarvotkrsht tyauhar mana jata hai. Shivmat ka pradurbhav mukhy roop se kashmir mein hi huya aur vahin par parakashta ko pahunch gaya. Svanamadhany shaivachary kashmir mein hi………

Description about eBook : Mahashivratri is one of the main festivals of Hindus, considered a special festival across India. But for Kashmiri Hindus, it is considered to be the quintessential festival. Shivamat originated mainly in Kashmir and reached its climax there. Self blessed Shaivacharya in Kashmir only………

“एक गुस्सैल व्यक्ति अपना मुंह खोलता है, लेकिन अपनी आंखे (सोचने की शक्ति को) बन्द कर लेता है।” ‐ कैटो
“An angry man opens his mouth and shuts his eyes.” ‐ Cato

हमारे टेलीग्राम चैनल से यहाँ क्लिक करके जुड़ें

Check Competition Books in Hindi & English - कम्पटीशन तैयारी से सम्बंधित किताबें यहाँ क्लिक करके देखें

Leave a Comment